Thursday, September 19, 2013

teri dil lutne

प्यारी सी गज़ल दोस्तों के लिए 

तेरी दिल लूटने की अदा बाकमाल है,
सच हंसी फूटने की अदा बाकमाल है।
यूं खुदा ने बनाया बड़े प्यार से तुझे,
उसकी तो सोचने की अदा बाकमाल है।
काश तुझको कभी ख्याल आये मिरा ऐसे,
ये तिरी भूलने की अदा बाकमाल है।  
बज्म से तेरी उठ कर कही और जा बसे,
ख्वाब यूं तोड़ने की अदा बाकमाल है।
रैन"कटती नही दिल परेशान है मिरा, 
तेरी ये रुठने की अदा बाकमाल है।  राजेन्द्र रैना"गुमनाम"


1 comment: